एकाग्रता : स्वामी विवेकानंद का प्रेरक प्रसंग | Concentration Swami Vivekanand Prerak Prasang

एक दिन स्वामी विवेकानंद पाल डायसन के साथ साहित्य पर विचार-विमर्श कर रहे थे. पाल डायसन जर्मनी के निवासी थे और संस्कृत के महान विद्वान थे. विचार-विमर्श के मध्य अचानक पाल डायसन को एक आवश्यक कार्य से बाहर जाना पड़ा. कार्य पूर्ण कर जब वे लौटे, तो स्वामी विवेकानंद को एक पुस्तक पढ़ते हुए पाया.

व्याख्या : अल्बर्ट आइंस्टीन का प्रेरक प्रसंग | Explanation Albert Einstein Prerak Prasang

अल्बर्ट आइंस्टीन एक महान वैज्ञानिक थे. भौतिक विज्ञान के क्षेत्र में किये गए महान कार्यों के कारण उन्हें आधुनिक भौतिक विज्ञान का जन्मदाता कहा जाता है. विज्ञान में रूचि रखने वाले लोग अक्सर मार्गदर्शन प्राप्त करने उनके पास आया करते थे और आइंस्टीन बड़े ही सरल शब्दों में उनके सारे प्रश्नों का उत्तर दिया करते थे.