सत्रह ऊँट और तीन पुत्र : प्रेरणादायक कहानी | Seventeen Camels And Three Sons Motivational Story In Hindi

रेगिस्तानी इलाके में स्थित एक गाँव में एक वृद्ध व्यक्ति अपने तीन पुत्रों के साथ रहता था. उसके पास १७ ऊँट थे. एक दिन उस वृद्ध की मृत्यु हो गई. अपनी लिखी वसीयत में उसने अपनी संपत्ति के साथ–साथ १७ ऊँटों का भी अपने पुत्रों के मध्य बंटवारा किया था. संपत्ति तो बराबर-बराबर सभी पुत्रों में बांट दी गई. लेकिन ऊँटों की संख्या १७ थी, जो एक विषम और अभाज्य संख्या है. इसलिए उसका बराबर बंटवारा संभव नहीं था.

स्वयं को बदलिये प्रेरणादायक कहानी | Change Yourself Motivational Story In Hindi

बहुत पहले की बात है. एक राज्य में एक राजा राज करता था. वह बहुत दयालु और कृपालु था. समय-समय पर अपने राज्य में भ्रमण कर वह जनता के सुख-दुःख का समाचार लेता रहता था. सर्वदा वह घोड़े पर भ्रमण के लिए निकलता था. किंतु एक बार उसने पैदल ही भ्रमण पर निकलने का निश्चय किया. उसने कई स्थानों की यात्रा की और गाँव-गाँव जाकर लोगों से भेंट की. लोग भी राजा को अपने मध्य पाकर बहुत प्रसन्न थे.

गुणवान पुत्र शिक्षाप्रद कहानी | Gunwan Putra Moral Story In Hindi

पनघट पर चार औरतें पानी भरने आई. पानी भरते हुए वे एक-दूसरे से बातें करने लगी. बातों-बातों में उन्होंने अपने बेटों के गुणों का बखान करना प्रारंभ कर दिया. पहली औरत बोली, “मेरा बेटा बहुत सुरीली बांसुरी बजता है. जो भी उसकी बांसुरी सुनता है, मंत्रमुग्ध हो जाता है.” दूसरी औरत बोली, “मेरा बेटा बहुत बड़ा पहलवान है. गाँव में उसकी बहादुरी का डंका बजता हैं. तीसरी कहाँ पीछे रहती, वह बोली, “मेरा बेटा पढ़ने-लिखने में बहुत तेज है. पूरे गाँव में सबसे बुद्धिमान वही है.” चौथी औरत ने सबकी बातें सुनी, लेकिन कहा कुछ भी नहीं. इस पर वे औरतें उससे कहने लगी, “बहन, तुम भी तो कुछ बोलो. तुम्हारे बेटे में क्या गुण है?” वह औरत बोली, “क्या कहूं बहनों? मेरे बेटे में इस तरह का कोई गुण नहीं है.”

धैर्य का फल प्रेरणादायक कहानी | Dhairya Ka Phal Motivational Story In Hindi

एक गरीब किसान को उसके एक मित्र ने कुछ बीज दिये और उसे बताया कि ये बीज बांस के पेड़ की उस प्रजाति के हैं, जो चीन में पाए जाते है. इन पेड़ों की ऊँचाई ९० फीट तक होती है. किसान ने वे बीज अपने मित्र से ले लिए और उन्हें अपने खेत में बो दिये. उसे आशा थी कि जिस दिन वे बांस के ऊंचे पेड़ बन जायेंगे, उन बांसों को बेचकर उसे अच्छी आमदनी होगी और उसका परिवार एक अच्छा जीवन जी पायेगा.

अपनी रणनीति बदलिये प्रेरणादायक कहानी | Change Your Strategy Motivational Story In Hindi

एक अंधा आदमी एक बड़ी ईमारत की सीढ़ियों पर सुबह से बैठा हुआ था. अपनी ओर लोगों का ध्यान खींचने के लिए उसने अपने बगल में एक स्लेट रखी हुई थी, जिस पर लिखा हुआ था : “मैं अँधा हूँ. मेरी मदद करें.” लोगों के पैसे डालने के लिए उसने अपने पैरों के पास अपनी टोपी उल्टी करके रखी हुई थी.
दोपहर को एक पत्रकार वहाँ से गुजरा. उसने देखा कि उस अंधे आदमी की टोपी में बहुत ही कम पैसे पड़े हुए है. उसने अपनी जेब से कुछ पैसे निकाले और उसकी टोपी में डाल दिए. फिर उसने उस अंधे आदमी से पूछे बिना ही उसके पास पड़ी स्लेट को पलटकर उसमें दूसरा मैसेज लिख दिया. इतना करके वो वहाँ से चला गया.

जीवन का दर्पण प्रेरणादायक कहानी | Jeevan Ka Darpan Motivational Story In Hindi

एक दिन जब ऑफिस के सभी कर्मचारी ऑफिस पहुँचे, तो उन्हें दरवाजे पर एक पर्ची चिपकी हुई मिली. उस पर लिखा था – “कल उस इंसान की मौत हो गई, जो कंपनी में आपकी प्रगति में बाधक था. उसे श्रद्धांजली देने के लिए सेमिनार हाल में एक सभा आयोजित की गई है. ठीक ११ बजे श्रद्धांजली सभा में सबका उपस्थित होना अपेक्षित है.” अपने एक सहकर्मी की मौत की खबर पढ़कर पहले तो सभी दु:खी हुए. लेकिन कुछ देर बाद उन सबमें ये जिज्ञासा उत्पन्न होने लगी कि आखिर वह कौन था, जो उनकी और कंपनी की प्रगति में बाधक था?