एक लड़का और लड़की गर्लफ्रेंड-बॉयफ्रेंड थे. दोनों एक-दूसरे से बहुत प्यार करते थे. एक-दूसरे से मिले बिना और बातें किये बिना रह नहीं पाते थे. एक दिन गर्लफ्रेंड ने बॉयफ्रेंड से कहा, “डिअर, एक पूरे दिन तुम मुझसे मिले बिना, कॉल किये बिना, कोई मैसेज किया बिना रहकर दिखाओ….

एक दिन एक लड़की ने अपने पिता से पूछा, “पापा! क्या आप कभी मेरी वजह से वो रोये हैं?” उसके ऐसा पूछने का कारण ये था कि उसने कभी भी अपने पिता को रोते हुए नहीं देखा था. इस सवाल के जवाब में पिता ने कहा, “हाँ, एक बार ऐसा कुछ हुआ था, जब तुम्हारी वज़ह से मैं रोया था.” यह सुनकर लड़की उस बात को जानने के लिए उत्सुक हो गई कि आखिर वह क्या बात थी, जिसने उसके पिता को रुला दिया था.  

ये कहानी एक सैनिक की है, जो वियतनाम में युद्ध के लिए गया था. युद्ध समाप्त होने के बाद जब उसके घर लौटने की बारी आई, तो उसने अपने माता-पिता को सैन फ्रांसिस्को से फ़ोन किया, “माँ और पिताजी! मैं घर आ रहा हूँ. लेकिन घर आने से पहले मुझे आपसे एक बात पूछनी है. मेरा एक दोस्त है, जिसे मैं अपने साथ घर लाना चाहता हूँ. क्या मैं उसे ला सकता हूँ?”

Translate »