Pandit Nehru Prarak Prasang
Pandit Nehru Prarak Prasang

Pandit Nehru Prarak Prasang : पंडित नेहरू आज़ाद भारत के प्रथम प्रधानमंत्री थे. १४ नवंबर १८८९ को इलाहाबाद में जन्मे पंडित जवाहर लाल नेहरू पेशे से अपने पिता मोतीलाल नेहरू की तरह ही वकील थे, किंतु वकालत उन्हें रास नहीं आई और वे भारत की स्वतंत्रता के आंदोलन में कूद पड़े. वे महात्मा गाँधी से बहुत प्रभावित थे. उन्होंने ‘असहयोग आंदोलन’, ‘सविनय अवज्ञा आंदोलन’, ‘भारत छोडो आंदोलन’ में गाँधी जी के साथ हिस्सा लिया. कई बार उन्हें जेल यात्रा भी करनी पड़ी.

वे कई बार अखिल ‘भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस समिति’ के अध्यक्ष रहे. १९२९ में लाहौर अधिवेशन की अध्यक्षता करते हुए उन्होंने ‘पूर्ण स्वराज्य’ की मांग की थी. भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में उनके योगदान को देखते हुए महात्मा गाँधी की सहमति से उन्हें आज़ाद भारत का प्रथम प्रधानमंत्री चुना गया.

वे आम जनता में बहुत लोकप्रिय थे. साथ ही बच्चों में भी. उन्हें बच्चे बहुत प्रिय थे. बच्चे उन्हें प्यार से ‘चाचा नेहरू’ बुलाते थे. आज भी उनका जन्मदिवस १४ नवंबर भारत में ‘बाल दिवस’ के रूप में मनाया जाता है.

पंडित नेहरू के जीवन की कई प्रसंग और घटनायें प्रेरणादायक है, जिनमें से कुछ प्रेरक प्रसंग यहाँ लेख किये गए हैं :