टीवी इंडस्ट्रीज के हैंडसम एक्टर विवियन डसेना (Vivian Dsena) युवाओं के दिलों पर राज़ करते हैं. मॉडलिंग से टीवी की दुनिया में कदम रखने वाले विवियन ने सीरियल ‘प्यार की…

  Heart Touching Story In Hindi : एक अमीर आदमी और उसकी पत्नी अपनी शादी की पाँचवी सालगिरह बड़े ही धूम-धाम से मनाना चाहते थे. इस ख़ुशी के अवसर पर उन्होंने…

Prerak Prasang Hindi : पद्म विभूषण से सम्मानित श्री घनश्यामदास जी बिड़ला भारत के अग्रणी औद्योगिक समूह बी.के.के.एम. बिड़ला के संस्थापक होने के साथ ही स्वाधीनता सेनानी भी थे. वे…

Air Hostess की जॉब छोड़कर टीवी की दुनिया में कदम रखने वाली दीपिका कक्कड़ इब्राहिम (Dipika Kakar Ibrahim) किसी पहचान की मोहताज़ नहीं हैं. छोटे पर्दे की वो स्थापित एक्ट्रेस हैं. इतना ही नहीं इस वर्ष जे.पी. दत्ता की फिल्म ‘पलटन’ से वो बड़े पर्दे पर भी डेब्यू कर चुकी हैं. फिलहाल रियलिटी शो ‘Bigg Boss 12’ में वो धूम मचा रही हैं.

अपनी बुद्धिमानी और चतुराई के कारण तेनालीराम महाराज कृष्ण देवराय के अतिप्रिय थे. इस कारण राजगुरू और अन्य दरबारी उनसे ईर्ष्या करते थे. सभी ऐसे अवसर की प्रतीक्षा में रहते थे, जब वे तेनाली राम को महाराज के समक्ष नीचा दिखा सकें. एक दिन राजगुरू ने सबके साथ मिलकर तेनालीराम को अपमानित करने की योजना बनाई और महाराज के पास जा पहुँचे.

एक समय की बात है. स्कॉटलैंड में रॉबर्ट ब्रूस नाम का राजा राज करता था. उसके राज्य में खुशहाली और शांति थी. प्रजा उसका बहुत सम्मान करती थी.
एक बार इंग्लैंड के राजा ने स्कॉटलैंड पर आक्रमण कर दिया. दोनों राज्यों के मध्य घमासान युद्ध हुआ. उस युद्ध में राजा ब्रूस की पराजय हुई और स्कॉटलैंड पर इंग्लैंड का कब्ज़ा हो गया.

एक लोमड़ी दो दिन से भूखी थी. वह भोजन की तलाश में जंगल में भटक रही थी. दिन भर भटकने के बाद भी उसे भोजन नसीब नहीं हुआ. वह थक कर चूर होकर एक पेड़ के नीचे सुस्ताने के लिए बैठ गई. जिस पेड़ के नीचे बैठकर वह सुस्ता रही थे, ठीक उसके सामने के पेड़ पर कुछ देर बाद एक कौवा आकर बैठ गया. उसके मुँह में रोटी का टुकड़ा था.

एक वन में बरगद में एक पेड़ पर एक चिड़िया घोंसला बनाकर रहती थी. वह देखने में बड़ी विचित्र थी. उसके दो सिर थे. एक दिन की बात है, वह चिड़िया भोजन की तलाश में इधर-उधर उड़ रही थी. उड़ते-उड़ते एक स्थान पर चिड़िया के दांये मुँह को एक फल दिखाई पड़ा. वह बहुत खुश हुआ और फल को बड़े ही चाव से खाने लगा.

एक व्यक्ति अपनी जीविका चलाने के लिए ब्रेड बेचने का काम करता था. वह दिन-रात मेहनत करता, ताकि अपनी पत्नि और दो बच्चों की गुजर-बसर ठीक से कर सके. दिन-भर काम करने के बाद वह शाम को extra classes भी जाया करता, ताकि एक बेहतर job हासिल कर सके. रविवार को छोड़कर शायद ही ऐसा कोई दिन होता, जब वह अपने परिवार के साथ बैठकर भोजन कर पाता था. जब भी उसकी पत्नि या बच्चे इस बात की शिकायत करते कि वह उनके साथ पर्याप्त समय व्यतीत नहीं करता है, तो वह कहता कि उनके साथ समय बिताने के लिए वह भी तरसता है.

Translate »